लोकतंत्र की हत्यारी है भाजपा – पवन बंसल

author
0 minutes, 0 seconds Read
Spread the love

न्याय परिक्रमा न्यूज़ चंडीगढ़

“चण्डीगढ़ मेयर चुनाव में भाजपा ने दिनदिहाड़े किया लोकतंत्र का चीरहरण”


चंडीगढ़, (अच्छेलाल)
भारी हंगामे के बीच चंडीगढ़ मेयर चुनाव में भाजपा ने अपनी कुटिलता और मक्कारी के चलते हासिल की जीत को लेकर वरिष्ठ कांग्रेस नेता पवन कुमार बंसल ने भाजपा को जम कर कोसा। पवन बंसल ने भाजपा को लोकतंत्र की हत्यारी बताया। मीडिया को किये अपने संबोधन में उन्होंने पूरी चुनाव प्रकिया पर सवाल उठाते हुए कहा कि जब पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने चुनाव की तारीख तय की थी, तो उन्होंने पार्षदों के समर्थकों को ना जाने का हुक्म दिया था, लेकिन ऐसा पहली बार हुआ है कि चुनाव के दौरान मीडिया को भी आने नहीं दिया गया, तांकि भाजपा की चोरी पकड़ी ना जाए, लेकिन इन्होंने एक गलती कर दी कि पूरी प्रक्रिया की लाईव स्ट्रीम कर दी, जिसकी वजह से भाजपा की मक्कारी हम सभी के सामने आ गई।
पवन बंसल ने कहा कि जब भाजपा पार्षदों की संख्या कम होने के बावजूद जीत को लेकर इतनी आश्वस्त थी, तो हम यही सोचते थे कि आखिर जब पार्षद तोड़ने के तो इनके सारे प्रयास विफल हो गए, तो ये ऐसा क्या करेंगे ? इसका जवाब आज हमें मिल गया, कि भाजपा एक छोटे से मेयर चुनाव को जीतने के लिए भी किस हद तक जा सकती है।

ये हमारा लोकतांत्रिक अधिकार था कि गिनती से पहले हमारा काउंटिंग एजेंट वहाँ मौजूद रहता जो पूरी प्रकिया की निष्पक्षता का ध्यान रखता, लेकिन यहाँ तो निगम के सेक्रेटरी का काम भी प्रीसाइडिंग अफसर ने खुद ही कर दिया। उन्होंने खुद ही सारे बैलेट पेपर खोले और उस पर निशान लगा कर उन्हें रद्द कर दिया और जब वो ये सारी बेईमानी कर रहे थे, तो उनके चेहरे का उड़ता हुआ रंग सभी को नज़र आ रहा था।
बंसल ने कहा कि पहली बार ऐसा हुआ है कि 8 वोटें रद्द की गई, जो कि कुल वोट का 25 प्रतिशत से भी ज़्यादा है, आज के दिन ही गांधी को गोली मार के उनकी सोच को भी मारने की कोशिश की थी और आज 76 वर्षों बाद हमारे लोकतंत्र, संविधान और उसके रचयिता बाबा साहेब भीम राव अंबेडकर के लोकतन्त्र का भी कत्ल कर दिया गया है। अगर एक मेयर चुनाव में भाजपा सरेआम ऐसे षड्यंत्र रच सकती है, तो आने वाले लोकसभा चुनावों में किस हद तक जा सकती हैं, इसका अन्दाज़ा लगाना मुश्किल नहीं ।
लेकिन हमारी उम्मीद इस लोकतंत्र में जीवित है और न्याय लेने के लिए हम भाजपा की इस गुंडागर्दी के विरुद्ध हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट तक भी जाएँगे।

ब्यूरों रिपोर्टः कुमार योगेश/अच्छे लाल (चंडीगढ़)

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *