भाजपा के ‘मसीहा’ पर गिरी गाज, सुप्रीम कोर्ट ने गठबंधन के आरोपों पर लगाई मोहर -पवन बंसल

author
0 minutes, 5 seconds Read
Spread the love

न्याय परिक्रमा न्यूज़ चंडीगढ


आखिर जीत सत्य की ही होगी, लोकतंत्र सर्वोपरि – पवन बंसल

चंडीगढ़, (अच्छेलाल)
चंडीगढ़ मेयर चुनाव को लेकर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट की सख्त टिप्पणी सामने आई। चुनाव अधिकारी अनिल मसीह को सुप्रीम कोर्ट ने फटकार लगाई। चीफ जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ ने कहा- यह स्पष्ट है कि उन्होंने बैलेट पेपरों को विकृत किया। क्या वह इसी तरह चुनाव आयोजित करते हैं? यह लोकतंत्र का मजाक है। यह लोकतंत्र की हत्या है। इस अफसर पर मुकदमा चलाया जाना चाहिए। कांग्रेस के पूर्व सांसद पवन बंसल ने इसे सत्य की जीत करार दिया है,
“जब हमने ऐसे आरोप लगाए थे तो भाजपा अपने पाक-साफ होने का दम भर रही थी, अब कहाँ गयी भाजपा की शराफ़त? भाजपा ने लोकतांत्रिक मूल्यों दी धज्जियाँ उड़ाते हुए मेयर चुनाव जीतने का षड्यंत्र रचा था, जो पहले जनता की अदालत में नंगा हुआ, और अब कानून की अदालत में।

भाजपा को अपने इस कृत्य पर पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए।“
सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया कि मेयर चुनाव के बैलेट पेपर, वीडियोग्राफी समेत पूरे रिकॉर्ड को जब्त कर पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट रजिस्ट्रार जनरल के पास रखा जाए, इसके साथ कोर्ट ने निर्देश दिया कि चंडीगढ़ निगम की आगामी बैठक स्थगित रहेगी।
आप-कांग्रेस के मेयर पद के संयुक्त कैंडिडेट कुलदीप कुमार ने यह याचिका दायर की है। जिसमें उन्होंने भाजपा के नए चुने मेयर मनोज सोनकर को हटाकर दोबारा चुनाव की मांग की गई है। याचिका में दलील दी गई कि चुनाव अधिकारी अनिल मसीह ने वोटों की गिनती में हेराफेरी की है।

ब्यूरों रिपोर्टः कुमार योगेश/अच्छे लाल (चंडीगढ़)

👆 न्याय परिक्रमा यूट्यूब चैनल पर देखिये पूरा वीडियो

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *