ध्यान के द्वारा हम अपने ईश्वरीय स्वरूप का अनुभव करने लगते हैं : स्वामी गौरीश्वरानंद पुरी

author
1
0 minutes, 1 second Read
Spread the love

न्याय परिक्रमा न्यूज़ चंडीगढ

स्वामी गौरीश्वरानंद पुरी जी महाराज की जन्मतिथि धूमधाम से मनाई

चण्डीगढ़, (अच्छेलाल), विवेकानंद योग व संगीत साधना केंद्र के संस्थापक महा तपस्वी योगाचार्य श्रीमद् स्वामी गौरीश्वरानंद पुरी‌ जी महाराज की 84वीं वर्षगाँठ जैन धर्मशाला, मनीमाजरा में हर्षोल्लास पूर्वक मनाई गई। इस अवसर पर भजन गायक राजीव और प्रदीप शास्त्री ने मधुर भजन सुना कर श्रोताओं को आनंदित किया। स्वामी गोरिश्वरानंद पुरी जी महाराज की जन्म तिथि पर डॉ. पिंकेश वर्मा और डॉ. अनूप कुमार विश्वास ने समस्त भक्तजनों को बधाई दी। डॉ. पिंकेश वर्मा ने कहा कि स्वामी गौरिश्वरानंद जी महाराज एक महान योगी और तपस्वी हैं जिन्होंने कई लोगों को योग का महत्व समझाते हुए उन्हें यौगिक क्रियाएं और मेडिटेशन सिखाया जिससे लोगों के जीवन में परिवर्तन हुआ है और उन्हें स्वास्थ्य लाभ हुआ है। इस अवसर पर स्वामी गौरीश्वरानंद जी महाराज ने सभी शिष्यों को आशीर्वाद देते हुए कहा कि योग भारतीय दर्शन और विज्ञान का महत्वपूर्ण हिस्सा है। ध्यान के द्वारा हम अपने ईश्वरीय स्वरूप का अनुभव करने लगते हैं। उन्होंने कहा कि योगी को श्वासों पर नियंत्रण करना चाहिए। प्राण या श्वास का आयाम या विस्तार ही प्राणायाम कहलाता है। स्वामी जी की् जन्म तिथि पर उनसे आशीर्वाद लेने के लिए दूरदराज से भक्तजन पहुंचे इस अवसर पर लोगों को फल और मिठाइयों का प्रसाद बांटा गया।

ब्यूरों रिपोर्टः कुमार योगेश/ अच्छे लाल/संजीव कुमार(चंडीगढ)

👆 न्याय परिक्रमा यूट्यूब चैनल पर देखिये पूरा वीडियो।

Similar Posts

Comments

  1. avatar
    RK VIKRAMA SHARMA says:

    जय हिंद जय भारत वंदे मातरम न्याय परिक्रमा न्यूज़ वास्तव में बहुत ही मजबूती के साथ समाज के सभी पहलुओं पर कलम चलाते हुए आगे बढ़ रहा है भाई अच्छे लाल की अथक मेहनत और दूरदर्शिता सराहनीय है सबसे अहम बात यह है कि अच्छे लाल जी अपने सभी सहयोगी साथियों को समानता और बिना भेदभाव के अपने साथ लेकर चलते हैं यही न्याय परिक्रमा की सफलता का सरल और सहज आधार है।

    आरके विक्रमा शर्मा पीजीडीपीआर प्रेस जर्नलिस्ट
    अल्फा न्यूज़ इंडिया 9872886540 व्हाट्सएप
    की ओर से हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *