मुलानाफसल खरीद में संसाधनों के अभाव से किसान, मजदूर व आढ़ती परेशान :- वरुण चौधरी

author
0 minutes, 2 seconds Read
Spread the love

न्याय परिक्रमा न्यूज़ हरियाणा

अम्बाला, हरियाणा, (अच्छेलाल), ।सरसों की फसल की खरीद सरकार द्वारा एजंसियों के माध्यम से शुरू की है और खरीद करने के लिए मंडीयों में सुविधा उपलब्ध करवाने के बड़े-बड़े दावे किए गए हैं जबकि हकीकत में किसानों की फ़सल की खरीद के लिए एजंसियों के पास पर्याप्त संसाधन नही है। जो एजंसी फसल की ख़रीद कर रही है उसके पास न फ़सल साफ करने की कोई मशीन,लेबर,बिजली कनेक्शन,वजनी कांटा कोई भी समान अपना नही है। एजंसियों ने सारा सामान आढ़तियों से उधार लिया हुआ है और आढ़तियों को इसके बदले कोई कमीशन नही दी जा रही है और न ही मजदूरों को उनके मेहनताना देने की तय सीमा निर्धारित है।यह बात मुलाना विधायक वरुण चौधरी ने मुलाना मंडी में किसानों, आढ़तियों, व मजदूरों से मुलाकात के दौरान कही।विधायक मंडी में फ़सल खरीद का जायज़ा लेने पहुचे थे।विधायक ने कहा कि गेहूं की फसल की खरीद भी 1 अप्रेल से शुरू हो चुकी है लेकिन अभी तक बारदाना व अन्य सामान भी मण्डियों में नही पहुंच पाया है।विधायक ने कहा कि दूर दूर से किसान अपनी फसल लेकर सुबह चार बजे मंडी में पहुंच रहे है लेकिन दोपहर तक भी उनकी फ़सल नही ख़रीदी जा रही है।सरकार द्वारा मंडियों में किसानों के बैठने, विश्राम करने व पीने के पानी तक की कोई व्यवस्था नहीं की गई है। किसानों को अपने ट्रैक्टर ट्रालियों में ही बैठे रहना पड़ता है। विधायक ने कहा कि इस सरकार ने कई फसलों की खरीद के लिए जिले में केवल एक मंडी को उस फसल का खरीद सेंटर बनाती है जिसमें किसानों को अपनी नज़दीकी मंडी से कई किलोमीटर दूर अपनी फ़सल को बेचने के लिए जाना पड़ता है और कई दिनों तक परेशानी झेलनी पड़ती है। सरकार को चाहिए कि जिस क्षेत्र में जिस फ़सल की उपज होती है उसकी पूरी ख़रीद भी उसी क्षेत्र की मंडी में होनी चाहिए।ताकि किसानों को फसल बिक्री में किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े।

ब्यूरों रिपोर्टः कुमार योगेश/अच्छे लाल(चंडीगढ)

👆 न्याय परिक्रमा यूट्यूब चैनल पर देखिये पूरा वीडियो।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *