भाजपा की सुझाव पेटिका में प्राप्त हुए 20 हजार से अधिक सुझाव पत्र-प्रदेशाध्यक्ष जितेंद्र पाल मल्होत्रा

author
0 minutes, 3 seconds Read
Spread the love

न्याय परिक्रमा न्यूज़ चंडीगढ

इन सुझावों से जनता तय कर रही है विकास का भावी मॉडल-प्रदेशाध्यक्ष

सुझाव के साथ सराहना भी की और जो कार्य रुके हुए हैं,उन्हें गति देने की राय भी-महामंत्री

चंडीगढ़, (अच्छेलाल), भाजपा की सुझाव पेटिका में अब तक 20 हजार से ज्यादा सुझाव पत्र आ चुके हैं। इन तमाम सुझाव पत्रों में साफ है कि पब्लिक का भाजपा के 10 वर्ष के शासनकाल पर विश्वास बढ़ा है। सुझाव पेटिका में अधिकांश लोगों ने अपने अपने क्षेत्र में विकास के रोड मैप पर ध्यान आकर्षित किया है और काफी बारीकी से सुझाव दिए हैं। इसमें स्वास्थ्य सेवाओं से लेकर,शिक्षा,कानून व्यवस्था और कारोबारियों को किस तरह की सुविधाएं मिले,जिससे भाजपा का आत्मनिर्भर बनाने का सपना पूरा होगा,इस बारे में सुझाव दिए हैं। यह जानकारी चंडीगढ़ भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष जितेंद्र पाल मल्होत्रा ने पत्रकारों को दी।प्रदेशाध्यक्ष ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी ने चुनाव मैदान में उतरने से काफी समय पहले ही यह योजना बनाई थी कि वह केवल भाषण के बोल में जनता जो जनार्धन नहीं,बल्कि लोकतांत्रिक चुनाव व्यवस्था में अहम योगदान देने वाले मतदाताओं के सुझावों पर भी गौर करेगी,ताकि तीसरी बार मोदी सरकार के कार्यकाल में उन विषयों पर काम हो सके,जो जनता चाहती है। जितेंद्र पाल मल्होत्रा ने कहा कि विकास का माडल अगर जनता के रायशुमारी से बने तो इससे बेहतर दूसरा कोई मॉडल नहीं हो सकता। भाजपा का लक्ष्य जनहितकारी योजनाओं को लागू करके ही राष्ट्र को उन्नति के पथ पर लाने का है। मोदी सरकार ने काफी हद इन कार्यों को अपने 10 वर्षों के शासनकाल में किया है।प्रदेश महामंत्री हुकम चंद और अमित जिंदल ने बताया कि अहम बात यह है कि चंडीगढ़ लोकसभा के गांवों से हजारों की संख्या में सुझाव पत्र मिले है।इनमें गांवों में होने वाले विकास कार्यों के लिए सुझावों के साथ साथ जो पिछले कार्यकाल में विकास कार्य हुए हैं,उसके प्रति भी आभार जताया है। इन गांवों के जिन लोगों ने यह सुझाव भेजे हैं,उन सुझावों में सबसे ज्यादा सराहना अमृत योजना,उज्जवला योजना और देश के किसानों के लिए मोदी सरकार द्वारा जो कार्य किए गए हैं,उसको सराहा है। वहीं पिछले कार्यकाल में जो काम हो सकता था और किन्हीं कारणों से छूट गया,उन कार्यों को किस तरह तेजी से कराया जा सकता है और इससे क्या क्या लाभ होंगे,इसका जिक्र भी सुझावों में किया है।

ब्यूरों रिपोर्टः कुमार योगेश/ अच्छे लाल/संजीव कुमार(चंडीगढ)

👆 न्याय परिक्रमा यूट्यूब चैनल पर देखिये पूरा वीडियो।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *