प्रमुख सचिव ने जनपद में उद्योगों को बढावा देने हेतु उद्यमियों एवं अधिकारियों के साथ की बैठक

author
0 minutes, 4 seconds Read
Spread the love

न्याय परिक्रमा न्यूज़ सहारनपुर

औद्योगिक संगठनों के साथ विचार-विमर्श कर समस्याएं करें चिन्हित

उद्यमियों की समस्याओं का समयबद्धता से हो निस्तारण

रोजगारपरक योजनाओं सेे लाभार्थियों के जीवन में आए परिवर्तन की जानकारी कराएं उपलब्ध

आलोक कुमार ने राजकीय कॉमन फैसेलिटी सेन्टर का किया भ्रमण

सहारनपुर। प्रमुख सचिव, खेल, युवा कल्याण, एमएसएमई, खादी एवं ग्रामोद्योग, हथकरघा तथा वस्त्रोद्योग विभाग, उ0प्र0 शासन आलोक कुमार द्वारा संयुक्त आयुक्त उद्योग कार्यालय में उद्योग विभाग तथा औद्योगिक संगठनों के साथ बैठक की। इस अवसर पर मण्डलायुक्त डॉ0 हृषिकेश भास्कर यशोद, जिलाधिकारी डॉ0 दिनेश चन्द्र, मुख्य विकास अधिकारी श्री सुमित राजेश महाजन उपस्थित रहे।प्रमुख सचिव द्वारा निर्देश दिये गये कि उद्योग विभाग में रोजगारपरक योजनाओं के अन्तर्गत विगत 03 वर्षाें में लाभान्वित लाभार्थियों के टर्न ओवर, एक्सपोर्ट तथा रोजगार सृजन में वृद्धि के संबंध में जिलाधिकारी से विचार-विमर्श कर अद्यतन स्थिति स्पष्ट करें। उन्होने संयुक्त आयुक्त उद्योग एवं उपायुक्त उद्योग को निर्देश दिये गये कि जनपद सहारनपुर में उद्योगों को बढावा देने हेतु औद्योगिक संगठनों के साथ विचार-विमर्श करते हुए समस्याएं चिन्हित कर सुझाव सहित प्रस्ताव शासन को प्रेषित किये जाये।उपायुक्त उद्योग श्री वीरेन्द्र कुमार कौशल द्वारा एक जनपद एक उत्पाद की योजनाओं के तहत लाभान्वित व्यक्तियों के संबंध में पीपीटी के माध्यम से प्रगति से अवगत कराया गया।

औद्योगिक संगठनों एवं उद्यमियों द्वारा हौजरी को एक जनपद एक उत्पाद के अन्तर्गत द्वितीय उत्पाद के रूप में शामिल करने की मांग रखी गयी, जिस पर उपायुक्त उद्योग द्वारा अवगत कराया गया कि इस संबंध में उद्योग निदेशालय के माध्यम से प्रस्ताव शासन को प्रेषित किया गया है। यूपीसीडा द्वारा विकसित औद्योगिक क्षेत्र, पिलखनी सहारनपुर की 97 एकड़ भूमि पर औद्योगिक भूखण्ड विकसित कर उद्यमियों को आवंटित किये जाने का अनुरोध औद्योगिक संगठनों द्वारा प्रमुख सचिव से किया गया। प्रमुख सचिव द्वारा यूपीसीडा के उच्चाधिकारियों से वार्ता कर भूखण्ड शीघ्र आवंटित किये जाने का आश्वासन दिया गया। उद्यमियों द्वारा देहरादून रोड पर स्थित औद्योगिक इकाईयों को विद्युत आपूर्ति से संबंधित समस्याओं का समाधान किये जाने का अनुरोध किया गया, जिस पर मुख्य अभियन्ता-विद्युत तथा अधिशासी अभियन्ता-विद्युत को तत्काल रूप से बजट प्राप्त कर कार्य शुरू किये जाने के निर्देश दिये गये। बैठक में पिलखनी स्थित औद्योगिक क्षेत्र के समीप ओडीओपी के अन्तर्गत निर्माणाधीन सीएफसी की समीक्षा की गयी। एस0पी0वी0 के प्रतिनिधियों रामजी सुनेजा, रविन्द्र मिगलानी व सोम प्रकाश गोयल द्वारा अवगत कराया कि सी0एफ0सी0 में मशीनें स्थापित हो गयी है तथा बॉयलर आना अभी शेष हैं। प्रमख सचिव द्वारा एस0पी0वी0 को निर्देश दिये गये कि सी0एफ0सी0 में बॉयलर लगवाकर 30 जून, 2024 तक कार्य प्रारम्भ किया जाये। इसके अतिरिक्त प्रमुख सचिव द्वारा मण्डी समिति के समीप स्थित हस्तशिल्प निर्यात संबर्द्धन परिषद (ईपीसीएच) के राजकीय कॉमन फैसेलिटी सेन्टर का भी भ्रमण किया गया।इस दौरान संयुक्त आयुक्त उद्योग अन्जू रानी, उपायुक्त उद्योग वीरेन्द्र कुमार कौशल, उपायुक्त उद्योग मुजफ्फरनगर जैस्मिन, खादी ग्रामोद्योग बोर्ड एवं विद्युत विभाग के अधिकारीगण सहित रामजी सुनेजा, आईआईए के अध्यक्ष अनूप खन्ना, प्रमोद सडाना, लघु उद्योग भारती से अनुपम गुप्ता, सीआईए के रविन्द्र मिगलानी, आईआईबीए से संजीव शर्मा, सोम प्रकाश गोयल तथा अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित रहे।

ब्यूरों रिपोर्टः मोनू कुमार/कुमार योगेश (सहारनपुर)

👆 न्याय परिक्रमा यूट्यूब चैनल पर देखिये पूरा वीडियो।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *